शेख रशीद: "मुल्क में कोई एक भी सियासतदां ऐसा नहीं है जो फौज की नर्सरियों में पल कर जवान न हुआ हो"

शेख रशीद: "मुल्क में कोई एक भी सियासतदां ऐसा नहीं है जो फौज की नर्सरियों में पल कर जवान न हुआ हो"

पाकिस्तान की पॉलिटिक्स पर वहां की सेना की पकड़ का खुलासा खुद वहां के एक मंत्री ने यह कहकर किया है कि देश में कोई ऐसा राजनेता नहीं है जो फौज की नर्सरियों में पला-बढ़ा न हो। यह बात पाक के रेलवे मंत्री ने कही है। अपने बयानों के लिए चर्चा में रहने वाले रशीद ने एक टीवी प्रोग्राम में यह बात कही।

उन्होंने कहा, "मुल्क में कोई एक भी सियासतदां ऐसा नहीं है जो फौज की नर्सरियों में पल कर जवान न हुआ हो। पाक की सियासत में जितने लोग आए हैं, वे सभी फौज के आशीर्वाद से आए हैं। "

शेख रशीद ने पूर्व सैन्य तानाशाह परवेज मुशर्रफ का बचाव करते हुए यह बात कही। मुशर्रफ राजद्रोह के आरोपों का सामना कर रहे हैं। उन्होंने कहा, "मैं परवेज मुशर्रफ को गद्दार व भ्रष्ट नहीं मानता। अगर यह देखना है कि किसने गैर संवैधानिक कार्य किया है तो फिर ऐसे लोगों की तो एक लंबी लाइन है। "

उन्होंने कहा, "फौज की एक व्यवस्था होती है व यह सियासत नहीं है। सियासतदां उन आवारा बत्तखों की तरह हैं जो फौज के घोसलों में अंडे देकर जवान हुए हैं। कोई एक भी सियासतदां ऐसा नहीं है जो फौज की नर्सरियों में पलकर जवान नहीं हुआ। एक भी सियासतदां का नाम बताएं जो जीएचक्यू (फौज मुख्यालय) के गेट नंबर चार की पैदावार न हो। "