अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की कुर्सी पर मंडरा रहा खतरा, यह हैं कारण

अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की कुर्सी पर मंडरा रहा खतरा, यह हैं कारण

अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की कुर्सी पर खतरा मंडरा रहा है. अमरीकी प्रतिनिधि सभा की स्पीकर नैंसी पेलोसी ने बृहस्पतिवार को बताया कि उन्होंने सदन की न्यायिक समिति से बोला है कि वो राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के विरूद्ध महाभियोग चलाने के लिए महत्वपूर्ण कागजी प्रक्रिया (आलेख) प्रारम्भ कर दें. पेलोसी ने बोला कि ट्रंप ने ऐसे कार्य किए हैं जिससे उनके सामने इसके अतिरिक्त कोई चारा नहीं बचा है.

एक टेलीविजन में पेलोसी द्वारा दिए गए सम्बोधन के मुताबिक, "राष्ट्रपति के कार्यों ने वाकई में संविधान का उल्लंघन किया है. हमारा लोकतंत्र खतरे में आ गया है. राष्ट्रपति ने हमारे सामने कार्रवाई के अतिरिक्त कोई विकल्प नहीं छोड़ा है."

महाभियोग प्रक्रिया शुरु करने के लिए महाभियोग के आलेख बहुत महत्वपूर्ण होते हैं. हालांकि पेलोसी की यह घोषणा अप्रत्याशित नहीं है. व अब क्रिसमस से पहले ट्रंप के विरूद्ध महाभियोग के औपचारिक आलेखों पर सदन द्वारा मतदान की आसार बढ़ती नजर आ रही है.

वहीं, इस घोषणा के बाद पेलोसी पर पलटवार करते हुए वाइट हाउस ने बोला कि डेमोक्रैट्स को शर्म आनी चाहिए. इस विषय में वाइट हाउस की सूचना सचिव स्टेफैनी ग्रिशैम ने ट्वीट किया, "स्पीकर पेलोसी व डेमोक्रैट्स को शर्म आनी चाहिए. डोनाल्ड ट्रंप ने कुछ भी गलत नहीं किया बल्कि हमारे देश का नेतृत्व किया है जिससे अर्थव्यवस्था बढ़ी, ज्यादा रोजगार आए व सेना मजबूत हुई, यह केवल उनकी कुछ जरूरी उपलब्धियां हैं. हम सीनेट में एक निष्पक्ष जाँच की उम्मीद करते हैं."

बता दें कि पेलोसी की यह घोषणा सदन की न्यायिक समिति की पहली सुनवाई के अगले ही दिन आई है, जिसमें पूछा गया था कि ट्रंप के विरूद्ध महाभियोग के आलेख तैयार किए जाएं या नहीं. इस सुनवाई के दौरान चार में तीन संवैधानिक विशेषज्ञों ने समिति को बताया था कि ट्रंप ने अपने सियासी प्रतिद्वंदी के विरूद्ध कार्रवाई करने के लिए यूक्रेन पर दबाव डालकर महाभियोग चलाए जाने वाला कार्य किया है. हालांकि चौथे विशेषज्ञ ने बोला था कि डेमोक्रैट्स बहुत ज्यादा तेजी से कार्रवाई के लिए आगे जा रहे हैं.

गौरतलब है कि बीते सितंबर में ट्रंप द्वारा कथितरूप से यूक्रेन के राष्ट्रपति व्लोदिमीर जेलेन्सकी को फोन करके पूर्व उप-राष्ट्रपति जो बिडेन व उनके बेटे हंटर की जाँच प्रारम्भ करने के लिए कहे जाने के बाद सदन के डेमोक्रैट्स ने महाभियोग की जाँच प्रारम्भ की थी.