नयी बस्ती बसाने के इजरायल के निर्णय का पक्ष लेने पर अमेरिका की कड़े शब्दों में की आलोचना, यह हैं पूरा मामला

 नयी बस्ती बसाने के इजरायल के निर्णय का पक्ष लेने पर अमेरिका की कड़े शब्दों में की आलोचना, यह हैं पूरा मामला

फिलिस्तीन (Palestine) ने वेस्ट बैंक के दक्षिण में स्थित हेब्रोन शहर में एक नयी बस्ती बसाने के इजरायल (Israel) के निर्णय का पक्ष लेने पर अमेरिका की कड़े शब्दों में आलोचना की है. खबर एजेंसी सिन्हुआ ने फिलिस्तीन लिबरेशन ऑर्गनाइजेशन के महासचिव सएब एरेकात के हवाले से इस बारे में जानकारी दी है.

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने लिखा कि, 'कब्जे वाले हेब्रोन में अवैध बस्ती बसाने का इजरायल का निर्णय उपनिवेशवाद को वैलिडिटी देने के अमेरिका (US) के निर्णय का पहला ठोस परिणाम है.' एरेकात ने ट्वीट करते हुए लिखा कि, 'बस्तियों के विरूद्ध प्रतिबंध लगाने सहित ठोस कदम उठाना अंतरराष्ट्रीय जिम्मेदारी है.' एरेकात का यह ट्वीट इजरायल के रक्षामंत्री नाफ्ताली बेनेट द्वारा हेब्रोन में नयी बस्ती के निर्माण को स्वीकृति देने के बाद आया है.

इजरायल की बस्ती बसाने की गतिविधियां फिलिस्तीन से उसके बीच शांति बातचीत में बाधा डालने वाले सबसे मुख्य मुद्दों में से है. फिलिस्तीन के हालिया आंकड़ों के मुताबिक, वेस्ट बैंक में 135 बस्तियों व 100 गैरकानूनी आउटपोस्ट्स में तक़रीबन चार लाख गैरकानूनी इजरायली रह रहे हैं. यहां फिलिस्तीन की आबादी बढ़कर 26 लाख हो चुकी है.