चार अंतरिक्ष यात्रियों को लेकर धरती पर आया स्पेसएक्स कैप्सूल, मेक्सिको की खाड़ी में उतरा

चार अंतरिक्ष यात्रियों को लेकर धरती पर आया स्पेसएक्स कैप्सूल, मेक्सिको की खाड़ी में उतरा

स्पेसएक्स का कैप्सूल चार अंतरिक्ष यात्रियों को लेकर अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र से धरती पर पहुंच गया है। यह रविवार को तड़के तीन बजे से कुछ देर पहले फ्लोरिडा में मेक्सिको की खाड़ी में उतरा। अपोलो-8 के बाद यह दूसरी बार है, जब अमेरिका का कोई अंतरिक्ष यान रात को धरती पर पहुंचा है। अपोलो-8 साल 1968 में चंद्र अभियान के बाद रात में धरती पर उतरा था।

नासा के माइक हाप्किंस, विक्टर ग्लोवर और शैनोन वाकर तथा जापान के सोइची नोगुची उसी कैप्सूल से धरती पर आए, जिससे पिछले साल नवंबर में वे अंतरिक्ष केंद्र पहुंचे थे। स्पेसएक्स के उतरने के मद्देनजर तटरक्षक बल ने सुरक्षा का व्यापक इंतजाम किया था। अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र में अब सिर्फ सात अंतरिक्ष यात्री बच गए हैं। इनमें से चार अंतरिक्ष यात्री पिछले सप्ताह ही स्पेसएक्स के जरिये अंतरिक्ष केंद्र पहुंचे थे। अंतरिक्ष स्टेशन से चलने के बाद विक्टर ग्लोवर ट्वीट किया था, धरती की ओर विदा। परिवार और घर के एक कदम करीब।

वहीं, दूसरी ओर पिछले महीने स्पेस एक्सप्लोरेशन टेक्नोलॉजी कॉरपोरेशन का नया और सबसे बड़ा रॉकेट अपनी तीसरी कोशिश में पहली बार सफलतापूर्वक लैंड हुआ, लेकिन धरती पर उतरने के कुछ देर बाद ही  इसमें जोरदार धमाका हो गया था। रॉकेट लॉन्चपैड पर ही जलकर पूरी तरह से खाक हो गया था। स्पेसएक्स की टीम ने जैसे ही इस उड़ान को सफल करार दिया, यह रॉकेट आग की लपटों में घिर गया था। इस हादसे से अमेरिकी स्पेस कंपनी के मंगल मिशन को बड़ा झटका लगा था।


भारत से लौटने वाले अपने नागरिकों से रोक हटा लेगा ऑस्ट्रेलिया

भारत से लौटने वाले अपने नागरिकों से रोक हटा लेगा ऑस्ट्रेलिया

ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री स्कॉट मारिसन ने कहा कि अगले शनिवार से ऑस्ट्रेलिया कोविड से प्रभावित भारत से लौटने वाले अपने नागरिकों से प्रतिबंध हटा लेगा। उसी दिन स्वदेश वापसी वाली पहली फ्लाइट ऑस्ट्रेलियाई शहर डारविन में लैंड करेगी।

ऑस्ट्रेलियाई सरकार ने इतिहास में पहली बार भारत में 14 दिन या उससे अधिक रहकर लौटे अपने नागरिकों पर अस्थाई प्रतिबंध लगा दिया था। ताकि वह ऑस्ट्रेलिया में लैंड न कर सकें। लेकिन अब यह प्रतिबंध अगले शनिवार से हटा लिया जाएगा।

ऑस्ट्रेलियाई सरकार ने इस प्रतिबंध का पालन नहीं करने पर पांच साल की जेल या 66 हजार ऑस्ट्रेलियाई डॉलर (50,899 अमेरिकी डॉलर) का जुर्माना लगाने का निर्णय लिया था। सरकार के इस फैसले से ऑस्ट्रेलियाई सांसदों, डॉक्टरों, व्यापारियों और सिविल सोसाइटी के लोगों ने सख्त एतराज जताया था। उन्होंने भारत में ऑस्ट्रेलियाई नागरिकों को छोड़ने और वापसी पर जुर्माना और जेल की धमकी देने का विरोध किया था।


सरकार का यह आदेश संभवत: 15 मई को खत्म हो रहा है। शुक्रवार को राष्ट्रीय सुरक्षा समिति की बैठक के बाद मोरिसन ने कहा कि इस तारीख को और आगे बढ़ाने की कोई जरूरत नहीं है। लिहाजा, अब ऑस्ट्रेलिया 15 से 31 मई के बीच भारत से अपने नागरिकों को वापस लाने के लिए तीन उड़ानें भेजेगा। पहली फ्लाइट 15 मई को डारविन पहुंचेगी। भारत से सीधे ऑस्ट्रेलिया आने वाली वाणिज्यिक उड़ानों पर अभी भी प्रतिबंध है। मोरिसन ने कहा कि फिलहाल उन्हीं ऑस्ट्रेलियाई नागरिकों को वापस लाया जाएगा जो भारत में उच्चायोग और काउंसलर आफिस में अपना पंजीकरण करा चुके हैं।


जोड़ों के दर्द से छुटकारा दिलाएंगे ये रामबाण उपाय       पेट में अल्सर की समस्या को दूर करता है तांबे के बर्तन में रखा पानी       मासिक धर्म के दर्द को कम करने के लिए जरूर अपनाएं ये तरीके       बच्चों को स्कूल के लिए तैयार करते समय कभी भूलकर भी ना करें ये गलतियां       सावधान बिना मोज़े जूते पहनने से हो सकते है ये नुकसान       अनिमिया से पीड़ित लोगों के लिए फायदेमंद होता है कटहल का सेवन       डायबिटीज के खतरे को बढ़ाता है ज्यादा नमक का सेवन       क्या आप जानते है "किस" करने से भी होती है ये बीमारियाँ       गर्मियों में शरीर को हाड्रेट रखने के साथ ही ताजगी प्रदान करता है खरबूजा       मलेरिया के बुखार को उतारने के कुछ आसान उपाय       1,500 रुपये से कम कीमत में आते हैं ये शानदार नेकबैंड ईयरफोन       600mAh की पावरफुल बैटरी के साथ भारत में लॉन्च हुआ ZOOOK का नया वायरलेस माउस       महंगी हुईं आपकी चहेती Mahindra SUVs, जानिए कीमत       Volkswagen T-Roc की बुकिंग शुरू, जानिये कब से मिलेगी डिलीवरी       सिंगल चार्ज में 450 किलोमीटर दौड़ेगी Renault Megane-e SUV, जानें दमदार फीचर्स       Mahindra के बाद अब महंगी होंगी Tata की कारें, जानें नई कीमतें       Honda H’ness CB350 के दाम में फिर हुआ इजाफा, जानें कीमत       Husqvarna Vitpilen 701 स्पेशल एडिशन मॉडल से उठा पर्दा       Covid-19 महामारी के दौरान इमरजेंसी में अगर कार से कर रहे हैं लंबा सफर       सोने के दाम में तेजी, चांदी की कीमत काफी बढ़ी, जानें