शिफ ने कहीं यह बड़ी बात- "ट्रंप ने अपने हितों को देश हित से ऊपर रखा"

शिफ ने कहीं यह बड़ी बात- "ट्रंप ने अपने हितों को देश हित से ऊपर रखा"

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को पद से बर्खास्त करने के लिए अमेरिका के निचले सदन यानी प्रतिनिधि सभा के मुख्य महाभियोग प्रबंधक एडम शिफ बहुत ज्यादा कठोर नजर आ रहे है। इस उन्होने बर्खास्त करने की विनती की है। यही नहीं उन्‍होंने बोला है कि ट्रंप ने अपने हितों को देश हित से ऊपर रखा ऐसे में उन पर भरोसा नहीं किया जा सकता है। इसके साथ ही विपक्षी डेमोक्रेटिक पार्टी के सांसदों ने सुनवाई के दौरान एकसुर में बोला है कि ट्रंप ने सियासी फायदा के लिए खुलेआम अपनी ताकत का दुरुपयोग किया।

अपने बयान में शिफ ने बोला कि अमेरिकी लोगों को ऐसे राष्ट्रपति की आवश्यकता है, जिस पर वे भरोसा कर सकें व जो उनके हि‍तों को अहमियत दे। शिफ की अभियोजन टीम ने दलीलें पेश करते हुए बोला कि ट्रंप ने सियासी फायदा के लिए खुलेआम व खतरनाक ढंग से अपनी ताकत का दुरुपयोग किया। महाभियोग की सुनवाई के दूसरे दिन बृहस्‍पतिवार को सदन के अभियोग प्रबंधकों ने दलीलें पेश करते हुए रिपब्लिकन पार्टी के उस दावे को खारिज करने की प्रयास की जिसमें दावा किया गया है कि डोनाल्‍ड ट्रंप ने कुछ गलत नहीं किया।

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि न्यायाधीशों के रूप में बैठे 100 सीनेटरों के बीच अभियोजकों ने अपने आरोपों के पक्ष में पुराने वीडियो क्लिपिंग दिखाई जिनमें राष्ट्रपति के दो बचावकर्ता कह रहे हैं कि सत्ता का दुरुपयोग ऐसा क्राइम है जिसमें महाभियोग चलाया जा सकता है। महाभियोग प्रबंधकों में से प्रतिनिधि सभा की न्यायिक समिति के अध्यक्ष जेरी नाडलर ने भी ट्रंप के विरूद्ध पुरजोर ढंग से दलील दी। उन्‍होंने बोला कि ट्रंप ने अपने व्यक्तिगत हित के लिए दूसरे देश से अमेरिका के चुनाव में दखल देने की विनती करके अपने ऑफिस व पद की ताकत का दुरुपयोग किया। ऐसा करना शपथ ग्रहण का भी उल्लंघन है।