पाक ने अमेरिका-तालिबान बात के पुन: प्रारम्भ होने से संबंधित घोषणा का किया स्वागत

पाक ने अमेरिका-तालिबान बात के पुन: प्रारम्भ होने से संबंधित घोषणा का किया स्वागत

पाक ने अमेरिका-तालिबान बात के पुन: प्रारम्भ होने से संबंधित घोषणा का स्वागत किया है। इसके साथ ही पाक ने उम्मीद जताई है कि यह प्रक्रिया अंतर-अफगान बातचीत का नेतृत्व करेगी व अंतत: अफगानिस्तान (Afghanistan) एक शांतिपूर्ण व स्थिर देश बन जाएगा। यह जानकारी शुक्रवार को मिली।  

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार, अमेरिका (US) द्वारा दोहा में तालिबान से जल्द ही बातचीत पुन: प्रारम्भ करने की घोषणा के एक दिन बाद पाकिस्तान विदेश मंत्रालय ने बयान जारी कर कहा, "पाकिस्तान प्रयत्न में शामिल सभी पक्षों की रचनात्मक रूप से साझा जिम्मेदारी को प्रोत्साहित करता है। " पाक ने अपने बयान में आगे बोला कि उन्होंने हमेशा यह सुनिश्चित किया है कि अफगानिस्तान में चल रहे प्रयत्न का कोई सैन्य निवारण नहीं है।

अमेरिका व तालिबान (Taliban) द्वारा एक-दूसरे से अनौपचारिक रूप से बात करने के बाद से ही बात के फिर से प्रारम्भ होने की आसार थी। ऐसा माना जाता है कि बात को फिर से प्रारम्भ करने में व दोनों पक्षों को मनाने में पाक (Pakistan) ने जरूरी किरदार निभाई है।

हालांकि सितंबर में दोनों पक्ष शांति समझौते पर हस्ताक्षर करने के बहुत करीब थे, लेकिन अमेरिकी राष्ट्रपति ने तालिबान द्वारा अमेरिकी सैनिकों को निशाना बना कर किए जा रहे लगातार हमलों की वजह से आखिरी पल में समझौता करने से इन्कार कर दिया था।