इमरान सरकार को उम्मीद है कि, कीमती सरकारी संपत्तियों की बिक्री से विदेशी व पाकिस्तानी निवेशक होंगे आकर्षित

इमरान सरकार को उम्मीद है कि, कीमती सरकारी संपत्तियों की बिक्री से विदेशी व पाकिस्तानी निवेशक होंगे आकर्षित

पाकिस्तान को आर्थिक तंगी से उबारने के लिए पीएम इमरान खान के नेतृत्व वाली सरकार ने अप्रयुक्त सरकारी संपत्तियों को बेचने का निर्णय किया है। पिछले वर्ष सत्ता में आने के बाद इमरान ने पीएम आवास के कई वाहनों, हेलीकॉप्टरों व भैंसों तक को बेच दिया था। लेकिन इससे उन्हें उम्मीद से कम आय हुई थी। आर्थिक मदद पाने की आस में इमरान चाइना व सऊदी अरब समेत कई राष्ट्रों का दौरा कर चुके हैं।

 

गुरुवार को पाकिस्तानी मीडिया में आई समाचार के अनुसार, इमरान सरकार को उम्मीद है कि कीमती सरकारी संपत्तियों की बिक्री से विदेशी व पाकिस्तानी निवेशक आकर्षित होंगे व मुल्क की वित्तीय स्थिति मजबूत होगी। इमरान ने बोला है कि अप्रयुक्त सरकारी संपत्तियों की बिक्री से मिलने वाली रकम का उपयोग जन कल्याणकारी परियोजनाओं पर किया जाएगा।

 

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, सरकारी संपत्तियों की बिक्री दुबई एक्सपो में होगी। निजीकरण मामलों के सचिव रिजवान मलिक ने कहा, 'दुबई एक्सपो में अप्रयुक्त सरकारी संपत्तियों को बेचने से विदेशी व पाकिस्तानी निवेशक आकर्षित होंगे। ' जबकि न्यूज इंटरनेशनल अखबार में इमरान के हवाले से बोला गया है, 'दुर्भाग्य की बात यह है कि पूर्ववर्ती सरकारों ने इन बहुमूल्य संपत्तियों की अनदेखी की। हर वर्ष अरबों रुपये के नुकसान के बावजूद उन्होंने इन संपत्तियों का कोई उपयोग नहीं किया। '