सूडान की एक सेरामिक फैक्ट्री में एलपीजी टैंकर ब्लास्ट के बाद लग गई भीषण आग

सूडान की एक सेरामिक फैक्ट्री में एलपीजी टैंकर ब्लास्ट के बाद लग गई भीषण आग

सूडान की एक सेरामिक फैक्ट्री में एलपीजी टैंकर ब्लास्ट के बाद भीषण आग लग गई. इस भयावह आग में 18 हिंदुस्तानियों समेत कम से कम 23 लोगों की मृत्यु हो गई, जबकि 130 से ज्यादा घायल हैं. हादसे की जाँच के आदेश दे दिए गए हैं.

भारतीय दूतावास द्वारा बुधवार को इस विषय में दी गई जानकारी के मुताबिक मंगलवार को सूडान की राजधानी खार्तूम स्थित एक फैक्ट्री में भीषण आग लग गई. खार्तूम के बहरी इलाके में शीला सेरामिक फैक्ट्री है, जहां पर यह एक्सीडेंट हुआ. इस हादसे के बाद से 16 भारतीय लापता हैं.

इस भीषण आग में बचे 34 हिंदुस्तानियों को सलूमी सेरामिक्स फैक्ट्री के आवास पर ठहराया गया है.

वहीं, एक खबर एजेंसी ने शुरुआती में जानकारी दी थी कि इस हादसे में 23 लोग मारे गए जबकि 130 घायल हो गए. बोला जा रहा है कि घटनास्थल पर महत्वपूर्ण सुरक्षा एवं बचाव उपकरणों का अभाव था.

इतना ही नहीं बताया जा रहा है वहां पर कई ज्वलनशील पदार्थ गलत तरीका से रखे गए थे, जिनकी वजह से आग तेजी से फैल गई.