कोरोना वायरस से किया चाइना में लोग हो रहे परेशान

कोरोना वायरस से किया चाइना में लोग हो रहे परेशान

कोरोना वायरस (Corona Virus)ने चाइना की कमर तोड़ दी है. सक्रमण के कारण हजारों जानें जा चुकी हैं. वहीं अर्थव्यवस्था पर भी बुरा प्रभाव पड़ा है. इस सच्चाई को छिपाने के लिए चाइना भरसक कोशिश कर रहा है. चाइना ने इस माह में दूसरी बार संक्रमण के मामलों को गिनने के ढंग में परिवर्तन किया है.

ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के अनुसार बुधवार को हुबेई में 1700 नए मामलों की पुष्टि हुई थी, मगर गिनने के ढंग को बदले जाने के बाद गुरुवार को सिर्फ 349 नए मामलों को ही सामने रखा गया. इस तरह से चाइना की तरफ से जारी किए आंकड़ों पर शक बढ़ता जा रहा है. इससे सवाल उठ रहे हैं कि क्या चाइना आंकड़ों की बाजीगिरी कर हकीकत को छिपाने की प्रयास कर रहा है.

अबतक 2000 से ज्यादा लोगों की मौत

कोरोना वाइरस से चाइना में अब तक 2000 से ज्यादा लोगों की मृत्यु हो चुकी है. 70 हजार से ज्यादा लोगों में इसके संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है मगर अब तक चाइना की तरफ से जारी किए जा रहे आधिकारिक डेटा को लेकर शक बढ़ने लगा है. दरअसल, कोरोना वाइरस से चाइना की अर्थव्यवस्था बुरी तरह प्रभावित हुई है. इसका अंदाजा इसी से लगा सकते हैं कि सार्स वाइरस के प्रकोप के वक्त उसकी जीडीपी में एक प्रतिशत से ज्यादा गिरावट दर्ज हुई थी. वहीं कोरोना सार्स से कई गुना ज्यादा खतरनाक साबित हो रहा है. ब्लूमबर्ग ने हुबेई की तरफ से कोरोना वाइरस को लेकर जारी किए गए डेटा पर स्पष्टीकरण मांगा था. चाइना के नेशनल हेल्थ कमिशन व हुबेई के प्रांतीय स्वास्थ्य आयोग ने सवालों के जवाब नहीं दिए.

गिरावट का कोई स्पष्टीकरण भी नहीं दिया

हुबेई में कोरोना वायरस के संक्रमण के नए मामलों में एक ही दिन में 500 फीसदी से ज्यादा गिरावट को लेकर कोई स्पष्टीकरण नहीं दिया गया. बुधवार को ही संक्रमण के मामलों को गिनने के लिए नयी नेशनल गाइडलाइन जारी की गई थी. इसमें सिर्फ 2 आंकड़ों को ही देखा गया है-पुष्ट मुद्दे व संदिग्ध मामले. चाइना के दूसरे प्रदेश पहले से ही काउंटिंग में यही उपाय अपना रहे थे.