श्रीलंका में बढ़ रहे COVID-19 मामले, WHO बोला...

श्रीलंका में बढ़ रहे COVID-19 मामले, WHO बोला...

श्रीलंका में विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कहा कि श्रीलंका सहित विश्व स्तर पर सीओवीआईडी ​​-19 के मामले बढ़ रहे है। स्थानीय मीडिया ने सोमवार को सूचना दी है कि देश में हाल के हफ्तों में संक्रमित रोगियों में वृद्धि देखी जा रही है। श्रीलंका में डब्ल्यूएचओ ने एक आधिकारिक ट्वीट में कहा कि विश्व स्तर पर और देश में रोगियों में यह वृद्धि अत्यधिक संक्रामक डेल्टा संस्करण, सोशल मिश्रण और असंगत सार्वजनिक स्वास्थ्य और सामाजिक उपायों (पीएचएसएम) और असमान टीकाकरण से हो रही है।

श्रीलंका में डब्ल्यूएचओ ने कहा, 'मुश्किल से हासिल हुआ लाभ खतरे में है और स्वास्थ्य व्यवस्था चरमरा रही है।' श्रीलंका ने हाल के सप्ताहों में रोगियों में उच्च वृद्धि दर्ज की है, जिसमें प्रतिदिन औसतन 2,000 से अधिक COVID-19 रोगियों का पता चल रहा है। स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि यह देश में तेजी से फैल रहे अत्यधिक संक्रामक डेल्टा संस्करण के कारण है।


श्रीलंका में वर्तमान में देश भर में 27,998 रोगियों की सक्रिय संख्या है और वायरस से 4,508 मौतें दर्ज की गई हैं। पिछले हफ्ते, स्वास्थ्य सेवा के उप महानिदेशक हेमंथा हेराथ ने कहा कि डेल्टा संस्करण, जिसे शुरू में राजधानी कोलंबो में रिपोर्ट किया गया था, अब देश के सभी जिलों में फैल गया है।

स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि अचानक मरीजों की संख्या बढ़ने से देश भर के अस्पताल भर गए हैं और ऑक्सीजन की जरूरत काफी बढ़ गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने जनता से सभी स्वास्थ्य दिशानिर्देशों को बनाए रखने और बिना मास्क के घर से बाहर निकलने से बचने का आग्रह किया। मंत्रालय ने सार्वजनिक रूप से शारीरिक दूरी बनाए रखना भी अनिवार्य कर दिया है।


एक साल में खत्म हो सकती है कोरोना महामारी, जानिए दिग्गज वैक्सीन निर्माता ने क्यों किया ये दावा

एक साल में खत्म हो सकती है कोरोना महामारी, जानिए दिग्गज वैक्सीन निर्माता ने क्यों किया ये दावा

पिछले डेढ़ साल से भी अधिक समय से दुनियाभर में जारी कोरोना महामारी ने हमारे जीवन को प्रभावित कर दिया है। पढ़ाई से लेकर कामकाज, व्यापार से लेकर नौकरी तक सभी को कोरोना ने गंभीर रूप से प्रभावित किया है। ऐसे में सभी लोगों के मन में बस एक सवाल है, आखिर कोरोना महामारी कब खत्म होगी? इसको लेकर दुनिया के एक दिग्गज वैक्सीन निर्माता ने बड़ा दावा किया है। माडर्ना वैक्सीन के निर्माण (एमआरएनए.ओ) और कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी स्टीफन बंसेल का मानना है कि कोरोना वायरस महामारी एक साल में खत्म हो सकती है।

उन्होंने स्विस अखबार नीयू ज़ुएर्चर ज़ितुंग को बताया कि वैक्सीन उत्पादन में वृद्धि से टीके के वैश्विक आपूर्ति में तेजी होगी। इसका मतलब हुआ कि वैक्सीन दुनिया के सभी कोनों तक तेजी से पहुंच सकेगी। उन्होंने एक इंटरव्यू में अखबार को बताया कि यदि आप पिछले छह महीनों में वैक्सीन की उत्पादन क्षमता को देखते हैं, तो अगले साल के मध्य तक पर्याप्त डोज उपलब्ध होनी चाहिए, जिससे इस धरती पर मौजूद सभी इंसानों को टीका लगाया जा सके। इतना ही नहीं, जिन्हें बूस्टर डोज की जरूरत है उन्हें भी वैक्सीन लग सकेगी। उन्होंने कहा कि जल्द ही शिशुओं के लिए भी कोरोना का टीकाकरण उपलब्ध होगा।


इसके बाद उन्होंने आगे कहा कि जो लोग वैक्सीन नहीं ले रहे हैं वे स्वाभाविक रूप से खुद को प्रतिरक्षित करेंगे क्योंकि डेल्टा वैरिएंट इतना संक्रामक है। इस तरह हम फ्लू जैसी स्थिति में समाप्त हो जाएंगे। आप या तो टीका लगवा सकते हैं और वायरस से संक्रमित होकर प्रतिरक्षा पा सकते हैं। यह पूछे जाने पर कि क्या इसका मतलब हुआ कि अगले साल की दूसरी छमाही में हम सामान्य स्थिति में लौट सकते हैं। इस पर उन्होंने कहा कि आज के जैसे हालात रहे तो एक साल में मुझे लगता है कि कोरोना महामारी खत्म हो सकती है।