चीन के इस शहर में फंसे हुए है 80 हजार से ज्यादा टूरिस्ट,लगाया गया है लॉकडाउन

चीन के इस शहर में फंसे हुए है 80 हजार से ज्यादा टूरिस्ट,लगाया गया है लॉकडाउन

चीन के जिस शहर में लॉकडाउन लगाया गया है वो रिसॉर्ट शहर है. बढ़ते कोविड-19 के मुद्दे को देखते हुए गवर्नमेंट ने अचानक इस शहर में लॉकडाउन की घोषणा कर दी और इससे वहां रह रहे 80 हजार से ज्याजा टूरिस्ट फंस गए है.

साल 2019 में चीन के वुहान से प्रारम्भ हुआ कोविड-19 वायरस ने पूरी दुनिया में तहलका मचाया. यह पहला राष्ट्र है जहा कोविड-19 के मुद्दे सामने आए थे. कुछ दिनों बाद इस वायरस ने पूरी दुनिया में महामारी फैला दी. हालांकि, अब प्रकोप कुछ कम है लेकिन चीन में कोविड-19 के मुद्दे रुकने का नाम ही नहीं ले रहा है. बता दें कि चीन के एक शहर में एक बार फिर से कोविड-19 के मुद्दे बढ़ गए हैं और इसी को देखते हुए गवर्नमेंट ने पूरे शहर में लॉकडाउन लागू कर दिया है.चीन के जिस शहर में लॉकडाउन लगाया गया है वो रिसॉर्ट शहर है. बढ़ते कोविड-19 के मुद्दे को देखते हुए गवर्नमेंट ने अचानक इस शहर में लॉकडाउन की घोषणा कर दी और इससे वहां रह रहे 80 हजार से ज्याजा टूरिस्ट फंस गए है. चीन के सान्या शहर में रविवार को 483 कोविड-19 के मुद्दे आए थे जिसको देखते हुए पूरे शहर में लॉकडाउन लगा दिया गया. अधिरकारियों के मुताबिक, यदि टूरिस्ट की 7 दिनों में 5 पीसीआर रिपोर्ट निगेटिव आती है तो वो अपने राष्ट्र वापस जा सकते हैं. जब तक कोविड प्रतिबंधों में छूट नहीं दी जाती तब तक शहर के सभी होटल टूरिस्ट को 50 फीसदी की छूटी देने का गवर्नमेंट ने निर्णय किया है.

लॉकडाउन के अतिरिक्त चीन ने विदेश से आने वाली सभी फ्लाइटें रद्द कर दी है. ट्रेन के टिकट भी मिलने बंद हो गए हैं. सबकुछ बंद होने से क्षेत्रीय निवासी समेत टूरिस्ट की कठिनाई बढ़ गई है. सोशल मीडिया के जरिए लोग चीन की गवर्नमेंट ने लोगों से कोविड-19 से छुटकारा पाने और हालात समझने की अपील की है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, चीन के शहर सान्या के डिप्टी मेयर ने बताया कि 80 हजार टूरिस्टों को तभी छूट मिल सकती है जब तक की 48 घंटे के अंदर उनकी पीसीआर रिपोर्ट निगेटिव नहीं आ जाती. इससे वह दुसरे लोगों से सुरक्षित रहेंगे.

कोरोना के कारण चीन के कई शहरों में लॉकडाउन लगा दिया गया है और इससे राष्ट्र की आर्थिक स्थिति पर भी गहरा असर पड़ रहा है. चीन का टूरिज्म सेक्टर भी काफी नीचे चल गया है. चीन में कोविड-19 का बीए 5.1.3 वैरिएंट आया हुआ है जो पहली बार मिला है. इसका संक्रमण रेट कम समय में अधिक बढ़ गया है. ऑफिसरों ने पूरे शहर में गाइडलाइंस फॉलो करने की अपील की है. पब्लिक ट्रांसपोर्ट से लेकर लोगों की आवाजाही पर पाबंदी लगा दी गई है.