13 दिन तक चले जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम की 'आजादी मार्च' में पाक सरकार ने इतने लाख डॉलर किए खर्च

13 दिन तक चले जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम की  'आजादी मार्च' में पाक सरकार ने इतने लाख डॉलर किए खर्च

इस्लामाबाद में 13 दिन तक चले जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम (JUI-F) की 'आजादी मार्च' में पाक सरकार ने 15 लाख डॉलर से ज्यादा धन खर्च किए हैं. यह जानकारी पुलिस अधिकारियों ने दी है. अधिकारियों ने रविवार को लोकल न्यूज चैनल को बताया कि यह राशि उन ठेकेदारों, विक्रेताओं को देना था, जिन्हें सिट-इन के दौरान सुरक्षा इंतज़ाम के लिए सेवा पर रखा गया था.

JUI-F ने राजधानी में 31 अक्टूबर से 13 नवंबर तक रैली व सिट-इन आयोजित की थी. इस सिलसिले में अन्य जिलों से बुलाए गए सुरक्षाबलों के लिए ठहरने, खाने व परिवहन का इंतज़ाम किया गया था. अधिकारियों ने बयान दिया कि, 18 दिनों तक चले इस प्रोग्राम में 16 लाख डॉलर खर्च हुए हैं. सिट-इन से पहले राजधानी पुलिस ने 17 लाख डॉलर की मांग की थी, किन्तु सरकार के आदेश के बाद इसमें से 839298 डॉलर कटौती करनी पड़ी.

अधिकारियों ने लोकल मीडिया को जानकारी देते हुए बताया है कि, सिट-इन के दौरान राजधानी इस्लामाबाद में 3000 फ्रंटियर कांस्टेबुलरी, 1500 पंजाब कांस्टेबुलरी, 2000 खैबर पख्तूनख्वा पुलिस व रेलवे पुलिस ने 5,000 राजधानी पुलिस के साथ से ज्यादा ड्यूटी निभाई थी. आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि यह आज़ादी मार्च इमरान खान सरकार के विरूद्ध निकाला गया था.