अमरीका में एप आधारित टैक्सी सेवा उबर के एक ड्राइवर को नस्लीय टिप्पणी का करना पड़ा सामना

अमरीका में एप आधारित टैक्सी सेवा उबर के एक ड्राइवर को नस्लीय टिप्पणी का करना पड़ा सामना

अमरीका में अक्सर प्रवासी लोगों को नस्लीय टिप्पणी का सामना करना पड़ता है. ऐसा ही एक मुद्दा फिर से सामने आया है. अमरीका में एप आधारित टैक्सी सेवा उबर के एक ड्राइवर को नस्लीय टिप्पणी का सामना करना पड़ा है.

दरअसल, एक सिख ड्राइवर को एक यात्री ने नस्ली गंदा शब्द कहे व उनका गला भी घोंटने का कोशिश किया. बताया जा रहा है कि ये घटना पांच दिसंबर की है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, ये घटना वाशिंगटन के तटीय शहर बेलिंगहम में हुई है.

घटना को लेकर ड्राइवर ने फौरन पुलिस में शिकायत दर्ज कराई, जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने हमलावर को अरैस्ट कर लिया.

पुलिस ने हमलावर को किया गिरफ्तार

ड्राइवर ने पुलिस में दर्ज शिकायत में बोला है कि पांच दिसंबर को 22 वर्षीय ग्रिफिन लेवी सेयर्स नाम के एक शख्स ने कैब बुक की थी. वह मार्केट खरीददारी करने के लिए गया था. लेकिन जब खरीददारी करके लौटा तो उसपर आकस्मित हिंसक हो गया व उसका गला घोंटने का कोशिश करने लगा. इस दौरान उसने उनपर नस्लीय टिप्पणी भी की.

हालांकि किसी तरह से वह (ड्राइवर) वहां से निकलने में सफल रहा व फिर हेल्पलाइन नंबर पर पुलिस को फोन कर इस घटना की सूचना दी.

200 प्रतिशत तक बढ़ गए घृणा क्राइम के मामले

'द अमरीकन बाजार' की एक रिपोर्ट के मुताबिक, अमरीका में यहूदियों व मुस्लिमों के बाद सबसे अधिक नस्लीय हमला सिख समुदाय के लोगों पर किए जाते हैं. FBI की रिपोर्ट के मुताबिक, 2017 के बाद से सिखों के विरूद्ध होने वाले घृणा अपराधों में 200 फीसद की बढ़ोतरी दर्ज की गई है.

ट्रंप की जीत के बाद अमेरिका में बढ़े घृणा अपराध: विशेषज्ञ

रिपोर्ट में बताया गया है कि अमरीका में सिखों के विरूद्ध घृणा के क्राइम हमेशा नागरिक अधिकारों व अल्पसंख्यक समूहों के लिए हुए हैं. पिछले महीने जारी एक रिपोर्ट में यहूदियों व मुसलमानों के बाद सिखों को देश के तीसरे सबसे बड़े लक्षित समूहों के रूप में पहचाना गया है.