जानिए, इन खास योग आसनों के बारे में

जानिए, इन खास योग आसनों के बारे में

कई देसी-विदेशी शोधों में यह साबित हो गया है कि योगा से गुस्से पर लगाम लगाई जा सकती है. योगा थ्योरी में आसन, मेडिटेशन व प्राणायाम किसी भी आदमी को मानसिक व शारीरिक स्तर पर मजबूत बनाने में अच्छा है. जानते हैं कुछ ऐसे ही खास आसनों के बारे में-

अर्ध धनुरासन ( Ardha Dhanurasana )
शरीर को मजबूती मिलने के साथ-साथ सारे शरीर में ऊर्जा का संचार होता है.

ऐसे करें: दोनों पैरों को जोड़कर पेट के बल लेट जाएं. ठोढ़ी और हाथों को जमीन पर लगा लें. आपकी हथेलियां फर्श की तरफ होनी चाहिए.बाएं घुटने को मोड़ें व बाएं हाथ को पीछे ले जाएं, एड़ी को पकड़कर ऊपर की ओर उठाएं. सांस लें व बाएं पैर समेत शरीर के सारे बाएं हिस्से को ऊपर की ओर उठाएं. गर्दन को पीठ की दिशा में ही रखें. दाएं हाथ को फर्श पर रखते हुए ही आगे की ओर ले जाएं. इसी स्थिति में 2-6 बार तक लंबी सांस लें. धीरे-धीरे सांस छोड़े व शरीर को नीचे की ओर ले जाएं. दाईं ओर भी इसी तरह अपनाएं.

सावधानी
जिन लोगों को हाल ही में पैर, हिप, गर्दन या हाथ में चोट लगी हो. पेट संबंधी कोई ऑपरेशन हुआ हो. साथ ही गर्भवती स्त्रियों को यह आसन नहीं करना चाहिए.

सर्वांग आसन ( Sarvangasana )
इस आसन के जरिए आप अत्यधिक गुस्से को तो नियंत्रित कर ही सकते हैं. साथ ही सिरदर्द, एनीमिया, अपच जैसी बीमारियों को भी दूर कर शरीर में नयी ऊर्जा का संचार कर सकते हैं.

ऐसे करें:
अपने हाथ व पैर सीधे करके जमीन पर लेट जाएं व गहरी सांस लेते हुए अपने दोनों पैरों को सीधे ऊपर की ओर उठाएं.
अपने हिप्स को ऊपर उठाते हुए पैरों को सीधा करें व बाद में सिर की ओर 45 डिग्री का कोण बनाने की प्रयास करें.
सांस लेते हुए अपने दोनों हाथों से पीठ को सहारा देें. इस स्थिति में अंगूठे शरीर के अगले हिस्से व बाकी अंगुलियां पीठ पर होनी चाहिए. पैरों को ऊपर की ओर उठाएं. अपनी पीठ को बिल्कुल सीधा कर लें व अपनी ठोढ़ी को बिल्कुल गले के पास लगाएं. इसी स्थिति में धीरे-धीरे सांस लें.

सावधानी
पीठ दर्द की समस्या वाले आदमी इसे न करें.

गुप्त पद्मासन ( Gupt Padmasana )
इस आसन के जरिए पीठ की बीमारियों से निजात पाई जा सकती है. मानसिक शांति और भावनाओं में स्थिरता आती है.

ऐसे करें: पद्मासन की मुद्रा में बैठ जाएं. अपने हाथों को आगे बढ़ाते हुए हिप्स को उठाएं व घुटनों के बल खड़े हो जाएं. धीरे-धीरे शरीर के अगले हिस्से को फर्श की ओर ले जाएं. अपने ठोढ़ी को फर्श से लगाकर आराम दें. अपनी हथेलियों को पीछे की ओर ले जाएं व प्रयास करें कि दोनों हाथों से सिर को छू सकें. अपनी आंखों को बंद करें व सारे शरीर को रिलेक्स करने दें.
वापस से शुरुआती पोजीशन में आएं, पैरों को दूसरी तरफ मोड़े व फिर से आसन को दोहराएं.

शवासन ( Savasana )
इस आसन का एकमात्र लक्ष्य है शरीर व दिमाग को आराम देना. स्वस्थ्य आदमी का सिर्फ शरीर ही नहीं बल्कि दिमाग भी शांत होना चाहिए.

ऐसे करें:
जमीन पर सीधे लेट जाएं. अपनी हथेलियों को ऊपर की ओर रखते हुए शरीर के पास रखें. अपनी आंखों को आराम से बंद करें. लंबी सांस लें व धीरे-धीरे छोड़ें. करीब पांच मिनट तक इसी मुद्रा में रहें. नींद आए तो तेज व गहरी सांस लें. इसे 5 मिनट तक करें.
नोट: सभी आसन विशेषज्ञ की देखरेख में ही करें.