अपनी डाइट में करे यह विटामिन व मिनरल शामिल

अपनी डाइट में करे यह विटामिन व मिनरल शामिल

स्वास्थ्य वर्धक रहने के लिए हेल्दी लाइफस्टाइल व न्यूट्रीशस डाइट बेहद जरूरी है. ये दोनों चीजें मिलकर एक स्वास्थ्य वर्धक शरीर के निर्माण, थकान को हराने व अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए

ऊर्जा के स्तर ऊंचा रखने में मददगार होती हैं. जैसे स्वस्थ जीवनशैली में नियम से साेना- जागना, कार्य करना, व्यायाम करना शामिल है, वैसे ही पाेषण युक्त आहार में सभी विटामिन व खनिज जरूरी व आवश्यक हैं. हेल्दी लाइफस्टाइल काे फाॅलाे करने पर भी बिना हेल्थी डाइट के हम पूरी तरह से स्वस्थ नहीं रह सकते हैं. आइए जानते हैं हमेशा फिट व स्वास्थ्य वर्धक रहने के लिए अपनी डाइट में कौन से आवश्यक विटामिन व मिनरल शामिल करने की आवश्यकता है

ओमेगा 3 ( Omega Fatty 3 Acid )
ओमेगा 3 एसिड हार्मोन, दिल गति व निम्न रक्तचाप को नियंत्रित करने में मदद करता है. यह मांसपेशियों व जोड़ों को मजबूत करने के अतिरिक्त दिल स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा है. इसके अतिरिक्त मेंटल हेल्थ में भी इसका सेवन उपयोगी होता है. सबसे बड़ा स्रोत मछली का ऑयल व अलसी के बीज हैं.

मैगनीशियम ( Magnesium )
मैग्नीशियम न्यूरोमस्कुलर, हृदय, इम्यूनिटी व हार्मोनल कामकाज को नियंत्रित करता है. आहार में मैग्नीशियम की कमी से मांसपेशियों में कमजोरी व थकान महसूस करा सकती है. इसके साथ ही इसकी कमी मेंटल हेल्थ को भी प्रभावित करती है. मैग्नीशियम के अच्छे स्रोतों में हरी पत्तेदार सब्जियां, केला, अंजीर, एवोकैडो व रास्पबेरी, नट व बीज, फलियां, समुद्री भोजन व मटर, ब्रोकोली, ब्रसेल्स जैसी सब्जियां, व अंकुरित अन्न और फल शामिल हैं.

विटामिन डी 3 ( Vitamin D3 )
हमारी हड्डियों काे मजबूती के लिए कैल्शियम की आवश्यकता हाेती है. व शरीर में कैल्शियम के अवशोषण को बढ़ाने व प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने के लिए विटामिन डी 3 बहुत आवश्यक है. सूर्य का प्रकाश विटामिन डी का सबसे अच्छा स्रोत है, लेकिन विटामिन डी से भरपूर खाद्य पदार्थ हैं जैसे अंडे की जर्दी, वसायुक्त मछली जैसे ट्यूना, मैकेरल व सामन, सोया दूध, पनीर आदि भी मददगार है.

B विटामिन ( Vitamin B )
बी-विटामिन जैसे थियामिन, राइबोफ्लेविन, नियासिन, पाइरिडोक्सिन (बी 6), पैंटोथेनिक एसिड, बायोटिन, फोलेट व बी 12 अच्छी स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण हैं. क्योंकि ये वर्कआउट करते समय ऊर्जा का उत्पादन करते हैं. फोलेट व बी 12 जैसे सूक्ष्म पोषक तत्व, लाल रक्त कोशिकाओं, प्रोटीन संश्लेषण, व ऊतक की मरम्मत व रखरखाव करने का महत्वपूर्ण हैं. B विटामिन के लोकप्रिय स्रोत साबुत अनाज, अंडे व डेयरी उत्पाद, रेड मीट, मछली, फलियां, बीज व नट्स व दूसरों के साथ गहरे पत्ते वाली सब्जियां हैं.

आयरन ( Iron )
शरीर में आयरन की कमी आपकाे एनीमिया का शिकार बना सकती है. आयरन लाल रक्त कोशिकाओं को सारे शरीर में ऑक्सीजन ले जाने में मदद करता है. आयरन की कमी आपको सुस्त बना सकती है. गहरे हरे रंग की पत्तेदार सब्जियां, दाल, फलियां, नट व बीज, साबुत अन्न व सूखे फल जैसे खाद्य पदार्थ आयरन के समृद्ध स्रोत हैं.

विटामिन सी ( Vitamin C )
विटामिन सी में प्रतिरक्षा बढ़ाने वाले गुण होते हैं व यह शरीर के लिए एक आवश्यक विटामिन है क्योंकि यह वायुजनित वायरस व सामान्य सर्दी को रोकता है. विटामिन सी के समृद्ध स्रोत खट्टे फल व स्ट्रॉबेरी हैं, व सब्जियां जैसे ब्रोकोली, फूलगोभी व शिमला मिर्च आदि हैं.

विटामिन ई ( Vitamin E )
विटामिन ई एक जरूरी एंटीऑक्सिडेंट है क्योंकि यह ऑक्सीडेटिव सेलुलर क्षति और वायरस संक्रमण को रोकता है, पेंटेन व लैक्टिक एसिड का उत्पादन कम करने के साथ एनारोबिक थ्रेशोल्ड बढ़ाता है. गहरी हरी पत्तेदार सब्जियां व मछली व वसायुक्त खाद्य पदार्थ विटामिन ई के उच्च स्रोत होते हैं.