आपके साथ भी होती है इस तरह की बातें तो समझ जाइए आपके ऊपर है दैवीय आशीर्वाद !

आपके साथ भी होती है इस तरह की बातें तो समझ जाइए आपके ऊपर है दैवीय आशीर्वाद !

जब भी किसी व्यक्ति पर ऊपरवाले की कृपादृष्टि पड़ जाती है तो उसकी जिंदगी ही पूरी तरह से बदल जाती है। जिनपर भगवान की कृपा रहती है वो वाकई में बहुत ही ज्यादा खुशकिस्मत होते है।  उन लोगों में कुछ अलग ही विशेष बात होती है जिसके बारे में कई बार खुद उन्हे भी नहीं पता रहता है।

क्या आपके साथ भी होता है ऐसा:

# सपने कई बार सच भी हो जाते है या फिर जब ऐसा सपना देखने पर अचानक ही आपकी आँखें खुल जाती है और आप काफी ज्यादा पसीने पसीने हुए रहते है तो ऐसा होना विशेष दैवीय कृपा के कारण माना जाता है।

# कभी कभी ऐसा भी देखा जाता है की आपको पता है कि हालात आपके विपरीत हैं, मगर बावजूद इसके आपके मन में ऐसा महसूस होता है की नहीं यहा कुछ अच्छा होने वाला है, ऐसे में आपकी इस तरह की नकारात्मक सोच पर आपकी सकारात्मकता हावी होती है ऐसा महसूस होना एक तरह से आप पर दैवीय कृपा का इशारा होता है।


सर्दियों में शिशु को नहलाते समय इन बातों का रखें खास ध्यान

सर्दियों में शिशु को नहलाते समय इन बातों का रखें  खास ध्यान

नन्हें शिशु की देखभाल करना आसान नहीं होता. खासकर सर्दियों के मौसम में तो उन्हें विशेष देखभाल की जरूरत होती है, क्योंकि बच्चों का इम्यून सिस्टम बहुत कमजोर होता है, इस कारण वे जल्दी बीमार होते हैं. वहीं अगर बच्चे की पहली सर्दी हो, तब तो चुनौतियां और ज्यादा बढ़ जाती हैं.

ऐसे में सबसे ज्यादा मुश्किल बच्चे को नहलाने में आती है. नहलाना जरूरी भी होता है, लेकिन जरा सी लापरवाही से समस्या भी बढ़ सकती है. अगर आप भी नई नई मां बनी हैं, तो परेशान होने की जरूरत नहीं. आज हम आपको बताएंगे नन्हें शिशु को नहलाने का आसान तरीका. इन तरीकों को आजमाकर आप टेंशन फ्री होकर बच्चे की देखरेख कर सकती हैं.

पानी बहुत गर्म न हो

आमतौर पर मांओं को चिंता सताती है कि कहीं उनके बच्चों को सर्दी न लग जाए, इसलिए वे उसे गर्म पानी से न​हलाती हैं. लेकिन बच्चे की स्किन बहुत सॉफ्ट होती है, ऐसे में गर्म पानी से बच्चे की स्किन को नुकसान हो सकता है. साथ ही नहाने के बाद अचानक से शरीर का तापमान कम होने से उसे सर्दी लगने का खतरा बढ़ जाता है. इसलिए बच्चे को नहलाने का पानी गुनगुना रखिए जो न ज्यादा गर्म हो और न ज्यादा ठंडा.

नहलाने से पहले मालिश जरूरी

बच्चों को नहलाने से पहले उनके शरीर की गुनगुने तेल से मालिश करनी चाहिए. सर्दियों में धूप में मालिश करें और अगर ठंडक ज्यादा हो तो कमरे के अंदर मालिश करें. मालिश करते समय कपड़ा जरूर डाल दें ताकि उसे ठंड न लगे. मालिश करने से शरीर को गर्माहट मिलती है. इसके बाद बच्चे को गुनगुने पानी से नहलाएं. नहलाते समय किसी केमिकल युक्त चीज का इस्तेमाल न करें. पानी में कुछ बूंदें नारियल, सरसों या जैतून तेल की बूंदें मिला लें.

नहलाते समय तौलिया साथ रखें

शिशु को नहलाने से पहले पूरी तैयारी करके रखें. उसे ज्यादा देर तक न नहलाएं और नहलाने के बाद फौरन तौलिए में लपेट दें और कमरे में ले जाकर दरवाजा बंद कर दें, ताकि कहीं से भी उसे हवा न लगे. इसके बाद उसे अच्छी तरह से गर्म कपड़े पहनाएं.

रोज न नहलाएं

सर्दियों में बच्चे को रोजाना नहलाना जरूरी नहीं होता. आप दिन को स्किप करके नहला सकती हैं. बीच बीच में गर्म पानी से स्पॉन्जिंग करके क्लीन कर सकती हैं. स्पॉन्जिंग करते समय बेबी वाइप्स या साफ कॉटन का इस्तेमाल कर सकती हैं.