बारिश के मौसम में इन खास बातो को ध्यान में रख करे काम

बारिश के मौसम में इन खास बातो को ध्यान में रख करे काम

बारिश में के दिनों में सर्दी-जुकाम, बुखार, पेट की गड़बड़ी, खुजली, दाद, फंगल व वायरल इंफेक्शन आदि समस्याएं होने लगती हैं. लेकिन हम खानपान पर ध्यान देकर इन समस्याओं को बहुत ज्यादा हद तक कंट्रोल कर सकते हैं.

फलियां-
इनमें प्रोटीन खूब होता है जो मांसपेशियों को ताकत देता है. हमारे इम्यून सिस्टम को भी मजबूत करता है. दालें, दूध, दही, पनीर प्रोटीन के प्रमुख स्रोत हैं.

दही और छाछ-
प्रोबायोटिक का बेहतरीन स्रोत छाछ या दही हमारे पाचनतंत्र को सुचारू रूप से कार्य करने में मदद करता है. यह शरीर की कुदरती रोग प्रतिरोधक प्रणाली के लिए मददगार है.

करौंदा और लहसुन भी फायदेमंद-
विटामिन सी से भरपूर करौंदा श्वेत रक्तकणिकाओं की कार्यप्रणाली दुरुस्त करता है. शरीर से विषैले पदार्थों की सफाई के लिए विटामिन सी बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण होता है. लहसुन में उपस्थित सेलेनियम एक जरूरी मिनरल व एंटीऑक्सीडेंट है जो इंफेक्शन दूर करता है.

अखरोट और अनाज-
अखरोट विटामिन ई का अच्छा स्रोत है. साबुत अन्न से कार्बोहाइड्रेट, जिंक, कॉपर, आयरन, मैंगनीज आदि मिनरल्स मिलते हैं जिससे इम्यून सिस्टम मजबूत होता है.

सलाद-
कच्चे की स्थान उबला हुआ (मक्का, मटर आदि से बना) सलाद इस्तेमाल करें क्योंकि कच्चे सलाद में बैक्टीरिया जल्दी पनपते हैं जिनसे संक्रमण होने की संभावना ज्यादा रहती है.

ध्यान रहे-
मानसून के मौसम में साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए. सब्जियों और फलों को अच्छी तरह से धोकर इस्तेमाल करें वर्ना संक्रमण होने कि सम्भावना है. बारिश में गर्म चीजें खाने का मन करे तो चाट-पकौड़ी, कचौरी, समोसे की बजाय सांभर, इडली, उत्पम, रसम आदि खाएं क्योंकि ये चीजें सरलता से पच जाती हैं व इनमें ज्यादा कैलोरी भी नहीं होती. तरबूज व खरबूज आदि खरीदते समय इनकी क्वालिटी जरूर जाँच लें. पत्ते वाली सब्जियों को ज्यादा देर गीला ना रखें.

विशेषज्ञ की राय-
डाइटीशियन के अनुसार इस मौसम में अंकुरित अनाज, दूध, दही, सोयाबीन हमारी इम्युनिटी को बढ़ाते हैं जिससे संक्रमण का खतरा कम होता है. हमेशा अच्छी तरह पका व ताजा खाना खाएं. तले-भुने की स्थान हल्का आहार लें जैसे कि दाल की पकौड़ी की स्थान दाल के चीले.