अपने खयालों कैसे रखे भय को दूर, आइए जानिए

अपने खयालों कैसे रखे भय को दूर, आइए जानिए

स्वस्थ रहने के लिए आपको अपने मन में बसे भय को दूर भगाना होगा. जब तक मन में भय रहेगा तब तक आप पूरी तरह से हैल्दी नहीं रह सकते. इसलिए अपने भय पर समय रहते काबू पाइए.

खयालों में रहता है भय -
जीवन में ज्यादातर लोगों को कोई न कोई भय सताता रहता है. इस भय के कारण लोग मन ही मन घबराते रहते हैं. भय के कारण कई बार हार्ट बीट तेज हो जाती है व कभी शरीर पसीने से तरबतर हो जाता है. भय के कारण इंसान तनाव में रहता है व भय के कारण वह कई बीमारियों को आमंत्रण दे बैठता है. भय के साथ अच्छी बात यह है कि ज्यादातर भय का अस्तित्व सिर्फ खयालों में होता है व असल जिंदगी में भय की बजाय विश्वास कार्य आता है.

अगर आप भय को भगा देते हैं तो ज़िंदगी में स्वास्थ्य की नयी लहर आ सकती है. डरपोक आदमी कभी स्वस्थ नहीं रह सकता. भय कई तरह के होते हैं. कोई जॉब छूटने से डरता है कोई बीमारी से डरता है कोई अनजान भय से ही ग्रस्त रहता है. संसार के सारे डरों ने मिलकर पूरी मानव जाति को बीमार बनाने का कार्य किया है. अगर आप खुलकर ज़िंदगी का आनंद लेना चाहते हैं व बीमारियों से कोसों दूर रहना चाहते हैं तो आपको बात से नहीं डरना चाहिए. बल्कि उसको मात देने या फिर उसका सामना करने की ट्रिक सीखनी चाहिए.

खुद पर रखिए विश्वास -
डर को दूर भगाने के कई ढंग हैं. इनमें सबसे सफल उपाय है- भय का सामना करना. बार-बार उस स्थिति से गुजरना जिससे आपको भय लगता है. प्रारम्भ में आपकी हालत बेकार होगी. आपके हाथ-पांव कंपकंपाएंगे पर धीरे-धीरे मन से भय निकल जाएगा. इसी के साथ शरीर में उपस्थित कई तरह की बीमारियां भी भाग जाएंगी. जब मन में किसी बात को भय नहीं होता तो इंसान खुलकर जीता है, प्रसन्न रहता है व हैल्दी रहता है.