सामने आया मंकीपॉक्स का एक और संदिग्ध मामला,भारत में मिल रहे A-2 स्ट्रेन के रोगी  

सामने आया मंकीपॉक्स का एक और संदिग्ध मामला,भारत में मिल रहे A-2 स्ट्रेन के रोगी  
 मंकीपॉक्स जैसे लक्षण पाए जाने के बाद 7 वर्ष के बच्चे को सरकारी मेडिकल कॉलेज में भर्ती करवाया गया है" 

सोमवार को केरल के कन्नूर में मंकीपॉक्स का एक संदिग्ध मामला सामने आया है मंकीपॉक्स जैसे लक्षण पाए जाने के बाद 7 वर्ष के बच्चे को सरकारी मेडिकल कॉलेज में भर्ती करवाया गया है:   

देशभर में मंकीपॉक्स(MonkeyPox) ने अपने पैर पसारने प्रारम्भ कर दिए हैं हिंदुस्तान में अबतक मंकीपॉक्स के कुल 9 मुद्दे सामने आ चुके हैं सोमवार को केरल के कन्नूर में मंकीपॉक्स का एक संदिग्ध मामला सामने आया है मंकीपॉक्स जैसे लक्षण पाए जाने के बाद 7 वर्ष के बच्चे को सरकारी मेडिकल कॉलेज में भर्ती करवाया गया है डॉक्टर्स ने टेस्ट के बाद सैंपल नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी, पूणे भेज दिए हैं सैंपल की जांच के बाद ही मुकदमा की पुष्टि की जा सकती है

ब्रिटेन से लौटा है 7 वर्षीय बच्चा
सूत्रों के अनुसार 7 वर्ष का बच्चा हाल ही में ब्रिटेन से केरल लौटा है बच्चे में मंकीपॉक्स के सभी लक्षण दिखाई दे रहे थे, जिसके बाद उसे जांच के लिए सरकारी मेडिकल कॉलेज ले जाया गया, जहां उसका उपचार चल रहा है आपको बता दें कि हिंदुस्तान में मंकीपॉक्स का पहला मामला भी केरल से ही सामने आया था

भारत में मिल रहे A-2 स्ट्रेन के रोगी  
इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च ने मंकीपॉक्स के हिंदुस्तान में मिले पहले दो मुकदमा पर शोध किया  जिसमें ये सामने आया कि उनमें मंकीपॉक्स का A.2 स्ट्रेन था ये स्ट्रेन यूरोप वाले मंकीपॉक्स से काफी अलग है A.2 स्ट्रेन पिछली बार ऑस्ट्रेलिया में देखा गया था रिसर्च बताती है कि A.2 स्ट्रेन का मौत रेट कम है जिस वजह से इस स्ट्रेन को दूसरे स्ट्रेन के मुकाबले कम घातक माना गया है उल्लेखनीय है कि इन दोनों मामलों में ही रोगी UAE से हिंदुस्तान लौटे थे 

दोनों रोगियों में मिले थे एक जैसे लक्षण
UAE से हिंदुस्तान लौटे दोनों ही रोगियों को शुरुआती दिनों में बुखार, मांसपेशियों में दर्द और शरीर पर छाले पड़ने लगे थे लक्षण आते है दोनों के मुंह और नाक से सैंपल लिए गए इन सैंपल के आधार पर रिसर्च को आगे बढ़ाया गया और पाया गया कि दोनों रोगियों में ही वायरस जीनोम सीक्वेंस MPXV_USA_2022 और FL001 West African के ट्रेस हैं