रेल यात्रियों के लिए राहत भरी खबर, बिहार में सात जोड़ी ट्रेनों का परिचालन 24 से होगा शुरू

रेल यात्रियों के लिए राहत भरी खबर, बिहार में सात जोड़ी ट्रेनों का परिचालन 24 से होगा शुरू

यात्रियोंं की सुविधा को देखते हुए पूर्व मध्य रेल के विभिन्न स्टेशनों से चलने वाली सात जोड़ी ट्रेनों का परिचालन फिर से बहाल करने का निर्णय लिया गया है। इन ट्रेनों का परिचालन कोरोना संक्रमण के कारण रद कर दिया गया था। पटना-भभुआ, मुजफ्फरपुर-नरकटियागंज सहित अन्य ट्रेनों का परिचालन किया जाएगा। यह व्यवस्था 24 जून से लागू हो जाएगी।

पुनर्बहाल की जाने वाली स्पेशल ट्रेनें 

- 05215-05216 मुजफ्फरपुर-नरकटियागंज स्पेशल ट्रेन 24 जून से प्रतिदिन।

- 03243-44 पटना-भभुआ रोड-पटना (वाया गया) स्पेशल 24 जून से प्रतिदिन किया जाएगा।  

-03249-50 पटना-भभुआ रोड-पटना (वाया आरा) स्पेशल 24 जून से प्रतिदिन।

- 03234-35 दानापुर-राजगीर स्पेशल 24 जून से प्रतिदिन।

-03303-04 धनबाद-रांची स्पेशल 24 जून से प्रतिदिन।

- 03388-87 धनबाद-हावड़ा स्पेशल 24 जून से प्रतिदिन। 


- 03320-19 रांची-देवघर स्पेशल 24 जून से 30 जून तक प्रतिदिन। 

- 03305-06 धनबाद-गया इंटरसिटी एक्सप्रेस स्पेशल का मार्ग विस्तार डेहरी-आन-सोन तक करते हुए 24 जून से प्रतिदिन चलेगी।

पूर्व मध्य रेल के विकास में  यूनियन की भूमिका महत्वपूर्ण

जागरण संवाददाता, पटना : पूर्व मध्य रेल मुख्यालय में महाप्रंबधक ललित चंद्र त्रिवेदी की अध्यक्षता में ईस्ट सेंट्रल रेलवे कर्मचारी यूनियन के पदाधिकारियों के साथ बैठक का आयोजन किया गया। इसमें कर्मचारी कल्याण से जुड़े विषयों पर गहन विचार-विमर्श किया गया। महाप्रबंधक ने कहा कि पूर्व मध्य रेल के विकास में यूनियन की भूमिका महत्वपूर्ण है। किसी भी संस्था के विकास में कर्मचारियों की भूमिका को नकारा नहीं जा सकता है। यूनियन के कोषाध्यक्ष  ओमप्रकाश शर्मा की काव्य संग्रह 'प्रतीक्षा के स्वर' का विमोचन भी किया गया। बैठक में प्रधान मुख्य कार्मिक अधिकारी जेकेपी सिंह समेत अन्य उ'चाधिकारी मौजूद थे। महाप्रबंधक ने कहा कि हम यूनियन के पदाधिकारियों और रेलकर्मियों की बातों को काफी गंंभीरता से लेते हैं। कर्मचारियों की मदद से ही माल लदान, समय पालन आदि के क्षेत्रों मे काफी प्रगति की है। महाप्रबंधक ने कहा कि रेल प्रशासन कर्मचारी कल्याण एवं कर्मचारी हित के लिए संकल्पित रहा है। इसमें कर्मचारी संगठनों का भरपूर सहयोग मिलता रहा है। यूनियन की पहल पर प्लेटफार्म उपलब्ध कराते हुए पटना से आने वाले रेलकर्मियों को आवागमन की सुविधा उपलब्ध कराने में महाप्रबंधक भूमिका सराहनीय रही है। 


कब्रिस्तान व मंदिर चहारदीवारी की घेराबंदी के काम में लाएं तेजी

कब्रिस्तान व मंदिर चहारदीवारी की घेराबंदी के काम में लाएं तेजी

जिले में कब्रिस्तान की चाहरदीवार घेराबंदी व मंदिर चाहरदीवार घेराबंदी को लेकर जिलाधिकारी ने सभी अनुमंडल पदाधिकारी से रिपोर्ट उपलब्ध कराकर विभागीय अभियंता द्वारा चहारदीवार निर्माण में तेजी लाने का निर्देश दिया है। इससे संबंधित जो भी काम हैं उन्हें अति शीघ्र करवाने को कहा है।

जिलाधिकारी ने कहा कि चाहरदीवार घेराबंदी की समीक्षा विभाग स्तर पर की जा रही है। इसमें किसी भी प्रकार की कोताही नहीं बरतें। जो भी काम है उसमें तेजी लाने का निर्देश अनुमंडल अधिकारी को दिया गया। जिलाधिकारी अभिषेक सिंह ने सोमवार को साप्ताहिक समीक्षा बैठक के दौरान ये निर्देश दिए।

लोक शिकायत निवारण में आए मामलों को अधिकतम 60 दिन में जरूर निपटाएं

लोक शिकायत निवारण अधिकार अधिनियम की समीक्षा के क्रम में जिला पदाधिकारी ने लोक शिकायत की सुनवाई में तेजी लाने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि प्राप्त आवेदन के आलोक में गुणवत्तापूर्ण एवं निर्धारित समय अवधि जो अधिकतम 60 दिनों का है। समय अवधि के अंदर मामलों का निवारण करें।


सीएम के जनता दरबार में पहुंचे मामलों को जिला स्तर से अविलंब करें निपटारा

सीएम डैशबोर्ड तथा सीपीग्राम की समीक्षा में जिला पदाधिकारी ने प्रखंडों के वरीय पदाधिकारी को प्रखंड निरीक्षण के दौरान सीएम डैशबोर्ड एवं सीपीग्राम के लंबित मामलों की समीक्षा कराते हुए गुणवत्तापूर्ण रिपोर्ट उपलब्ध कराने के लिए निर्देशित करेंगे।

मुख्यमंत्री जनता के द्वार पटना में सुनवाई होने वाले मामलों की कार्रवाई रिपोर्ट संबंधित जिलों को भेजा जा रहा है। इसी आलोक में सभी प्रखंडों के आवेदक की सूची तैयार कर प्रत्येक सप्ताह अद्यतन प्रतिवेदन की समीक्षा करने को कहा। इधर, सीडब्ल्यूजेसी /एमजेसी की समीक्षा में बताया कि अपर समाहर्ता राजस्व, जिला पंचायत राज पदाधिकारी, वरीय पदाधिकारी आरटीपीएस, विद्युत, जिला खाद्य आपूर्ति, सहकारिता, सहायक आयुक्त कार्यालय में सीडब्ल्यूजेसी के मामले लंबित हैं। जिलाधिकारी ने अति शीघ्र रिपोर्ट उपलब्ध कराने को कहा। बैठक में सभी विभागों के वरीय अधिकारी उपस्थित थे।

जल जीवन हरियाली में गया बना नंबर वन, मनरेगा से अब तक 8.16 लाख पौधे लगे

डीआरडीए निदेशक संतोष कुमार ने बताया कि जल जीवन हरियाली योजना के तहत पूरे बिहार में इस माह गया जिला का पहला स्थान है। जिलाधिकारी ने मनरेगा पंचायती राज तथा लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग के द्वारा सार्वजनिक कुओं का निर्माण तथा जीर्णोद्धार के कार्य, चापाकलों के समीप, आहर, पोखर, पइन के समीप सोख्ता का निर्माण में तेजी लाने का निर्देश दिया। पौधारोपण की समीक्षा में बताया गया कि मनरेगा से इस वर्ष 11 लाख पौधा लगाने का लक्ष्य है। इसके जवाब में अभी तक लगभग 8 लाख 16 हजार पौधे लगाए गए हैं। साथ ही वैसे क्षेत्र जहां गैवियन की आवश्यकता पड़ रही है वहां गैवियन युक्त पौधा लगाए जा रहे हैं।