अक्रिकेट के सट्टेबाजी में पैसा हारने के बाद पत्नी ने दी तलाक तो प्रारम्भ किया शराब कारोबार

अक्रिकेट के सट्टेबाजी में पैसा हारने के बाद पत्नी ने दी तलाक तो प्रारम्भ किया शराब कारोबार

अरवल के कलेर थाने की पुलिस ने NH 139 पर ठाकुर बिगहा गांव के नजदीक दो चार पहिया गाड़ी से 6 कार्टून विदेशी शराब के साथ से 6 शराब धंधेबाज को अरैस्ट किया है. शराब रांची से पटना ले जाई जा रही थी. शराब धंधेबाज मारुति सिलेरियो वाहन में शराब रखी थी और स्वयं स्कॉर्पियो वाहन में सवार होकर जा रहे थे. इसी दौरान पुलिस ने सिलेरियो वाहन को रुकवा कर तलाशी ली तो उसमें शराब पाई गई.

इसके बाद चालक अनिल कुमार से पूछताछ की तो चालक ने बताया कि पीछे से आ रही स्कार्पियो वाहन में मालिक बैठे हुए हैं. पुलिस ने स्कार्पियो सवार 5 लोगों को धर दबोचा. थानाध्यक्ष धनंजय कुमार ने बताया कि शराब के विरूद्ध गाड़ी जांच अभियान चलाई जा रही थी तब ही पुरानी सेलेरियो वाहन तेज रफ्तार से आ रही थी.

इसके बाद पुलिस ने उसे रुकवा कर पूछताछ की और वाहन की तलाशी ली तो उसमें शराब पाई गई चालक के पूछताछ के बाद मालिक को भी अरैस्ट किया गया. दो लोग औरंगाबाद और 4 लोग पटना के रहने वाले हैं. पुलिस ने स्कार्पियो चालक गौतम कुमार, सिलेरियो चालक अनिल कुमार, शराब व्यवसायी राकेश कुमार रवि रंजन कुमार, सहयोगी रंजन कुमार और सनोज कुमार को अरैस्ट किया है.

गिरफ्तार शराब व्यवसायी राकेश कुमार उम्र 36 साल पटना जिले के पटेल नगर का रहने वाला है अरैस्ट शराब व्यवसायी पत्नी से तलाक के बाद शराब कारोबार प्रारम्भ किया. क्रिकेट में सट्टेबाजी के शौकीन राकेश ने सट्टेबाजी में अपने पैसे हारने के साथ-साथ पत्नी के जेवर भी बेच दिया. इसके बाद पत्नी उसे तलाक देकर अपने मायके चली गई.

माता-पिता का पहले ही देहांत हो चुका है. राकेश ने ऋण लेकर शराब का कारोबार प्रारम्भ किया. रांची से शराब लेकर पटना के पॉश इलाकों में शराब डिलीवरी करने वाला राकेश को कलेर पुलिस ने दबोच लिया. इससे पहले राकेश एम बी मोटर नाम से पुरानी गाड़ियों की खरीद बिक्री करता था लेकिन क्रिकेट सट्टेबाजी में सारे पैसे समाप्त होने के बाद कारोबार भी ठप हो गया.